जयपुर:-एनएचएम कार्मिको की विभागीय अधिकारियों से वार्ता विफल, माँगे माने जाने तक अवकाश पर डटे रहेंगे एनएचएम कार्मिक

0
404

जयपुर– प्रदेश के 14000 एनएचएम संविदा कर्मी अपनी मांगों को लेकर मंगलवार से सामुहिक अवकाश पर चल रहे हैं। आज इसकी समाप्ति के लिए प्रथम प्रयास के रूप में एनएचएम यूनियन और अतिरिक्त मुख्य सचिव स्वास्थ्य विभाग,मिशन निदेशक एनएचएम के साथ जयपुर स्वास्थ्य भवन में वार्ता भी हुई लेकिन वार्ता में कोई हल नही निकल पाया। एनएचएम संघ सदस्य शशांक वशिष्ठ ने बताया कि प्रदेश के सभी एनएचएम प्रबन्धकीय संवर्ग के कार्मिक , आयुष चिकित्सक मंगलवार से सामुहिक अवकाश पर है तथा प्रत्येक जिले में कलेक्ट्रेट पर शांति पूर्वक धरना दे रहे हैं।आज दूसरे दिन भी सामुहिक अवकाश जारी रहा।आज राज्य स्तर पर वार्ता के बाद अवकाश समाप्ति की उम्मीद थी लेकिन राज्य सरकार की उदासीनता के कारण वार्ता का कोई हल नही निकल सका जिसके चलते सभी सदस्यों द्वारा सामुहिक अवकाश जारी रखने का निर्णय लिया हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार से स्वीकृत वेतन वृद्धि भी सरकार कार्मिको को नही दे रही हैं। गौरतलब हैं कि कांग्रेस ने अपने जनघोषणा पत्र में समस्त संविदा कार्मिको के नियमितीकरण का वादा किया था। लेकिन वर्तमान में कमेटी, सब कमेटी बना कर सरकार इस मामले में ढुलमुल नीति अपना रही हैं, इस सामुहिक अवकाश के चलते विभागीय सेवायें प्रभावित हो रही हैं, जिनमें मुख्य मंत्री निःशुल्क दवा एवं जाँच योजना, भामाशाह बीमा योजना, टीकाकरण, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम,तम्बाकू नियंत्रण, एनसीडी, जननी सुरक्षा योजना आदि के लाभार्थी प्रभावित हो रहे साथ ही इनके प्रचार प्रसार, रिपोर्टिंग,एवं भुगतान सम्बंधी कार्य अटक गये हैं।उन्होंने ने बताया कि सरकार द्वारा अगर कार्मिकों की मांगों पर शीघ्र विचार नही किया तो यह आंदोलन ओर भी उग्र रूप धारण कर सकता हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here